अच्छे प्रोफेशनल्स को भी नहीं मिलती उतनी सैलरी, जितना कि ये भैंसा कमाता है हर महीने..

आजकल के समय में अच्छी खासी क्वालीफिकेशन और लाख कोशिशों के बाद भी ढंग की सैलरी वाली नौकरी मिलना मुश्किल हो चला है।देश में लाखों बीटेक, एमबीए किए हुए युवा बेरोजगार घूम रहे हैं.. ऐसे में आपसे कोई ये बताए कि एक भैंसा महीने के हजारों नही लाखों कमाता है तो शायद आपकों उस पर विश्वास ना हो।

क्योकि भैंसा जैसा जानवर जिसकी मूर्खता के लिए कहावत तक मशहूर है कि “काला अच्छर भैंस बारबर” ऐसा जानवर कौन सा करामात करता है कि लाखों कमाता है..तो हम आपको बता दे कि ये बात बिल्कुल ही सच है। दरअसल यूपी में आयोजित कृषि मेलें में एक ऐसे भैंसे की हो चर्चा रही है जो हर महीने 16 लाख रूपए की कमाई करता है।

यूपी के शामली जिले के किरोडी गांव के रहने वाले ओमबीर सिंह का यह भैंसा इस आजकल आकर्षण का केंद्र बना है। मेरठ के सरदार वल्लभ भाई पटेल कृषि यूनिवर्सिटी में आयोजित दो दिवसीय पशु प्रदर्शनी में एक से बढ़कर एक भैंसें (बुल) आए। इनमें इस बार बादल नाम का भैंसा भी आया है, जो हरियाणा के चैंपियन भैंसे युवराज को टक्कर देने के लिए पूरी तरह तैयार है। इस भैंसे की कीमत 7 करोड़ रुपए बताई जा रही है। ये भैंसा अपने मालिक के लिए इनकम का स्रोत बना हुआ है। गौरतलब है कि हरियाणा के किसान ओमबीर सिंह युवराज नाम से मशहूर भैंसे का स्पर्म (वीर्य) बेचकर हर साल 50 लाख रुपए तक की कमाई करने का दावा करते थे वहीं बादल के मालिक का कहना है कि वो इससे हर महीने 16 लाख की कमाई कर रहे हैं। इस भैंसे के स्पर्म की मांग पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश और राजस्थान सहित कई राज्यों में है।

5 किलो सेब और 5 किलो दूध की है नियमित डाइट

बादल जितनी कमाई अपने मालिक को देता है उसी हिसाब से उसकी खुराक भी है.. ओमबीर सिंह ने बताया, बादल की डाइट में 5 किलो सेब और 5 किलो दूध नियमित रूप से शामिल है। इसके अलावा खली, चूरी और चना के अलावा हरा चारा डाइट में शामिल हैं। उन्होंने बताया, हैदराबाद में कुछ दिन पहले लगे पशु मेले में वह भी अपने भैंसे बादल के साथ गए थे, तब वहां इसकी कीमत 7 करोड़ रुपए लगाई गई थी। पर ओमबीर के अनुसार, उनका भैंसा बिकाऊ नहीं है। वह इसका सीमन बेचकर उसके जैसे दूसरे बादल तैयार करने का काम कर रहे हैं। हैदराबाद के पशु मेले में बादल को उसकी ठोस कदकाठी को देखते हुए 11 लाख रुपए का इनाम भी म‍ला था।