कलयुगी बेटे की हरकत जानकर रह जायेंगे दंग, देवी मां को खुश करने के लिए काट दिया अपनी सगी मां का सिर!

कहते हैं कि इस दुनिया में मां से बढ़कर कोई और नहीं होता है। माता-पिता को ईश्वर से भी बढ़कर माना जाता है। उनके चरणों में ही स्वर्ग होता है। जो लोग उनकी सेवा करते हैं, उन्हें किसी देवी-देवता को खुश करने की जरूरत नहीं होती है। मां अपने बेटे के लिए दुनिया भर के कष्ट सहती है और दुनिया की परवाह किये बगैर उसकी हर इच्छा को पूरा करती है। एक मां के लिए उसके बच्चे से ज्यादा अजीज इस दुनिया में और कोई और नहीं होता है।

मां अपना सबकुछ लुटाकर भी संतान सुख पाना चाहती है। जब बच्चा छोटा होता है तो मां उसकी हर जिद को पूरा करती हैं। उसकी हर इच्छा को बिना सोचे-समझे झट से पूरा कर देती हैं। उन्हें उम्मीद होती है कि जब वह बूढी हो जायेंगी तो एक दिन उनका बेटा उनकी देख-भाल करेगा। हालांकि कुछ बच्चे ऐसे होते भी हैं, जिनके लिए उनके माता-पिता ही सबकुछ होते हैं। लेकिन सभी ऐसे नहीं होते हैं।

इससे बुरा कलयुग में और कुछ नहीं हो सकता:

आज हम आपको एक ऐसे कलयुगी बेटे के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसके बारे में जानकर आप दंग हो जायेंगे। आपको लगेगा कि कलयुग में इससे बढ़कर और कुछ भी बुरा नहीं हो सकता है। दरअसल एक व्यक्ति ने काली मां को खुश करने के लिए अपनी सगी मां का सिर काट दिया। जी हां अपनी सगी मां का सिर काली मां को खुश करने के लिए बिना सोचे-समझे काट दिया।

मंदिर की सफाई करते वक्त काट दिया मां का गला:

आपको बता दें कि पुरुलिया जिले के बड़ाबाजार क्षेत्र में रहने वाले एक युवक ने मां काली को प्रसन्न करने के लिए अपनी मां का सिर धड़ से अलग कर दिया। नारायण महतो नाम के इस व्यक्ति ने अपनी 55 वर्षीय मां फूली महतो का सिर उस समय खड़ग से काट दिया जब वह बामग्राम स्थित काली मंदिर की सफाई कर रही थी। नारायण अपनी मां का सिर काटने के बाद अपने बड़े भाई के घर गया और उसे बताया कि मां ने काली माता की मूर्ति के सामने आत्महत्या कर ली है।

पुलिस के सामने स्वीकार लिया अपना जुर्म:

यह बात सुनकर बड़े भाई को यकीन नहीं हुआ। वह सच्चाई जानने के लिए नारायण के घर गया। वहां जो उसने देखा, उसे देखकर उसे अपनी आंखों पर यकीन नहीं हुआ। दरअसल वहां उसकी मां का सिर धड़ से कुछ दूरी पर पड़ा हुआ मिला। उसने इस घटना की सूचना तुरंत पुलिस को दे दी। पुलिस ने जब कड़ाई ने नारायण से पूछताछ की तो उसने सब सच बता दिया। उसने स्वीकार किया कि काली मां को प्रसन्न करने के लिए उसने अपनी सगी मां का गला काट दिया था।