जानिए, पाकिस्तान ने कहां छिपा रखें हैं अपने परमाणु हथियार, सैटेलाइट इमेज से हुआ खुलासा

वाशिंगटन – भारत और पाकिस्तान के परमाणु हथियारों पर हमेशा ही दुनिया के सभी देश कि नज़रे रहती हैं। अब एक अमेरिकी थिंक टैंक ने दावा किया है कि पाकिस्तान ने अपने परमाणु हथियारों का जखीरा बलुचिस्तान के पर्वतीय इलाकों में जमीन के नीचे छिपाकर रखा है। सुरक्षित और जमीन के अंदर बनाये गए इस कॉम्पलेक्स का पता सेटेलाइट इमेज के जरिये चला। Pakistan nuclear weapons.

पाकिस्तान ने ब्लूचिस्तान में बनाया अंडरग्राउंड कॉम्पलेक्स

दरअसल, ये दावा अमेरिका की गैर-सरकारी संस्था इंस्टीट्यूट फार साइंस एंड इंटरनेशनल सिक्योरिटी ने किया है।  अमेरिका की गैर-सरकारी संस्था कि रिपोर्ट के मुताबिक पाकिस्तान ने दक्षिण-पश्चिमी प्रांत बलुचिस्तान में एक अंडरग्राउंड कॉम्पलेक्स बना रखा है जिसमें वो अपनी एक बैलिस्टिक मिसाइल और परमाणु हथियार रखता है।

लेकिन, बलुचिस्तान में और अंडरग्राउंड कॉम्पलेक्स में हथियारों को रखने कि वजह अभी पता नहीं चली है। आपको बता दें कि ये रिपोर्ट डेविड अलब्राइट, सारा बुरखर्द, अलीसन लैच और फ्रैंक पाबियन लिखी है। इनके मुताबिक इस जगह का इस्तेमाल पाकिस्तान अपने परमाणु हथियारों को रखने के लिए कर रहा है। जिससे वह जरूरत पड़ने पर अपने परमाणु हथियारों का इस्तेमाल जल्द से जल्द कर सकें।

भारत को कई बार दे चुका है परमाणु हमले की धमकी

Pakistan building nuclear weapons

गौरतलब है कि पाकिस्तान कई बार भारत को परमाणु हथियार की धमकी दे चुका है। अब जबकि ये खुलासा हुआ है कि पाकिस्तान ने परमाणु हथियार रखने के लिए ब्लूचिस्तान में अंडरग्राउंड कॉम्पलेक्स बनाया है, तो साफ जाहिर है कि ब्लूचिस्तान में परमाणु हथियारों को रखने के पीछे पाकिस्तान का मकसद युद्ध कि स्थिति में भारत पर कम से कम समय में हमला करना है।

हालांकि रिपोर्ट में इस कॉम्पलेक्स में हथियारों को रखने का मकसद स्पष्ट नहीं किया गया है। लेकिन इतना जरुर लिखा गया है कि, ‘पाकिस्तान ने भारत और अंतरराष्ट्रीय सीमा को ध्यान में रखते हुए देश के बीचों-बीच ब्लूचिस्तान में परमाणु हथियारों के लिए अंडरग्राउंड कॉम्पलेक्स का निर्माण किया है।’ यह दावा अमेरिकी थिंक टैंक ने सैटेलाइट के जरिये प्राप्त तस्वीरों और जांच के आधार पर किया है।

Hindi News से जुड़े अन्य अपडेट हासिल करने के लिए हमें फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करे! हर पल अपडेट रहने के लिए डाउनलोड करें DailyNewsTrend

SOURCE