गौहत्या पर सख्त हुई सरकार : इस राज्य में लागू हुआ उम्रकैद की सजा का कानून!

गुजरात – इस वक्त पूरे देश में गौहत्या का मुद्दा जोरों पर है। उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की सरकार बनने के बाद से ही बीजेपी ने अवैध बूचड़खानों पर कार्रवाई शुरू कर दी है। जिसे देखते हुए अन्य राज्यों की सरकारें भी अपने-अपने राज्यों में अवैध बूचड़खानों पर कार्रवाई करने लगी हैं। इसी क्रम में गुजरात में गौहत्या के दोषी को अब उम्रकैद की सजा दी जाएगी, जिसके लिए गुजरात सरकार ने 31 मार्च को गौ रक्षा कानून में संशोधन किया है।

आपको बता दें कि गुजरात में पहले से भी गौ रक्षा का कानून था जिसको पीएम मोदी ने सीएम रहते पास करवाया था। Life term on slaughtering cow.

गुजरात में लागू हुआ गौ रक्षा का कानून –

पीएम मोदी के गुजरात का सीएम रहते बनाये गये गौ रक्षा कानून को संशोधित कर दिया गया है। पहले इस कानून के तहत गौहत्या करने, गौमांस को लेकर जाने और बेचने पर पूरी तरह से बैन था। आपको बता दें कि पीएम मोदी ने ये कानून गुजरात पशु संरक्षण अधिनियम 1954 को 2011 में संशोधित करने के बाद लागू करवाया था। 2011 के संसोधन के अनुसार गौहत्या करने, गौमांस को लेकर जाने और बेचने के किसी मामले में दोषी को 50,000 रुपए का जुर्माना और सात साल तक की सजा का प्रावधान था।

गौ हत्या पर होगी उम्र कैद, विधानसभा में पास हुआ बिल –

गुजरात में पहले से ही गौवंश की हत्या का कानून मौजूद है, जोकि तत्कालीन मुख्यमंत्री मोदी लेकर आये थे लेकिन अब इस कानून को और सख्त कर दिया गया है। गुजरात के ऊना में गाय को मारकर चमड़ी उतारने के बाद कुछ कथित गौरक्षकों ने कुछ दलितों की बुरी तरह पीटा था। उसका एक वीडियो भी काफी वायरल हुआ था। उसके बाद से ही गुजरात के कुछ अन्य इलाकों से भी ऐसी ही खबरें सामने आ रही थीं। इसीलिए गुजरात सरकार ने गाय की हत्या करने पर आजीवन कारावास की सजा का कानून बनाया है। इस कानून को संसोधन के माध्यम से गुजरात विधानसभा में पास कर दिया गया है।