गैंगरेप-मर्डर: पूर्वमंत्री की बेटी बनी दामिनी, बोला..पापा ने करोड़ो खर्च कर बचाया था आरोपी भाई को

समाज में महिलाओं के साथ अपराध की घटनाएं दिन पर दिन बढ़ती जा रही हैं जिसकी सबसे बड़ी वजह अपराधियों को माकूल सजा ना मिलना है…. अक्सर ऐसा होता है कि रेप और दूसरे गम्भीरतम मामलों में भी दोषी अपनी रसूख का इस्तेमाल कर छूट जाते हैं। ऐसी ही 22 साल पुरानी रेप और मर्डर की एक बेहद गम्भीर घटना का पर्दाफाश अब हुआ है जिसमें आरोपी की बहन ने अपने भाई और पिता पर सनसनी खेज आरोप लगाते हुए ये खुलासा किया है कि उसके पिता मंत्री थे और उन्होने अपने रूतबे और पैसों के प्रयोग के जरिए उसके रेपिस्ट भाई को बचा लिया था।

ये था मामला

दरअसल ये मामला 22 साल पहले हरियाणा में हुए गैंगरेप और मर्डर का है.. जब 28 अगस्त 1995 यमुनानगर के रेलवे वर्कशऑप ट्रैक के पास गंदे नाले से बोरी में एक नाबालिग लड़की की बॉडी मिली थी। डेड बॉडी की मेडिकल जांच से पता चला कि लड़की की हत्या से पहले उसके साथ गैंगरेप किया गया था। तब इस मामले में चार लड़के आरोपी थे जिसमें से एक लड़का उस वक्त के फॉरेस्ट एंड रेवेन्यू मिनिस्टर शेर सिंह का बेटा रवि चौधरी था, पर ये केस हरियाणा में भजन लाल की सरकार में ठंडे बस्ते में चला गया। आरोप है कि मिनिस्टर शेर सिंह की तत्कालीन सीएम भजन लाल की करीबी की वजह से इस मामले को दबा दिया गया। पुलिस सिर्फ एक ही शख्स को आरोपी मानकर उसकी तलाश करती रही। आज तक पुलिस एक भी आरोपी को गिरफ्तार नहीं कर पाई है। हालांकि मामले की जांच सीबीआई को सौंपने की मांग को लेकर पूर्व सीएम ओम प्रकाश चौटाला सड़कों पर भी उतरे थे और सीबीआई को जांच भी मिल गई लेकिन पीड़ित परिवार को आज तक इंसाफ नहीं मिला।

22 साल बाद आरोपी के बहन का जागा ज़मीर

22 साल बाद अब इस मामले में आरोपी रवि चौधरी की बहन गीता चौधरी ने रविवार को मीडिया के सामने आकर कहा है कि इस हत्याकांड को राजनीतिक दबाव के चलते दबा दिया गया था, क्योंकि उनके पिता को पुत्रमोह था और वह अपने बेटे के लिए किसी भी हद तक जा सकते थे।साथ ही गीता चौधरी ने इस मामले मे पुलिस से लेकर सीबीआई और जजों तक को करोड़ों रुपए दिए जाने का खुलासा किया है। इस खुलासे के बारे में गीता से जब मीडिया ने पुछा कि आखिर 22 साल बाद वो ये बयान क्यों दे रही हैं तो गीता का कहना था कि आज जब उनकी बेटी बड़ी हो गई तो उन्हें एक बेटी के दर्द के बारे में पता चला और अब वे पीड़ित परिवार के साथ हैं।

खुलासे के बाद पीड़िता के पिता ने इंसाफ की लगाई गुहार

रविवार के हुए गीता के इस खुलासे के बाद पीड़िता के पिता ने न्याय की गुहार करते हुए यह एलान कर दिया है कि अगर उन्हें अब भी इंसाफ नहीं मिला तो वह जंतर-मंतर पर जाकर आत्महत्या कर लेंगे ..साथ ही वह राष्ट्रपति से इच्छामृत्यु की भी मांग करेंगे।