अब आधार होगा सुरक्षा का आधार, एक साल में आधार से जुड़ जायेंगे सभी मोबाइल सिम कार्ड!

पहले बैंक अकाउंट, डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर, गैस, ट्रेन टिकट और अब आधार कार्ड को सिम के साथ भी जोडा जाएगा. मोबाइल सिम वैरिफिकेशन मामले में केंद्र ने सुप्रीम कोर्ट को बताया है कि एक साल में सभी सिम कार्डों को आधार कार्ड से जोड़ दिया जाएगा.

आधार कार्ड हर चीज का आधार बनता जा रहा है :
धीरे धीरे आधार कार्ड हर चीज का आधार बनता जा रहा है. अब इसे आपके मोबाइल में लगने वाले सिम के साथ भी जोड़ा जाएगा. देश में 90 फीसदी सिम प्री-पेड हैं लेकिन अब ऐसी प्रणाली लाई जा रही है जिससे मोबाइल के सिम कार्ड को भी आधार से जोड़ा जा सके.

केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में एक याचिका पर सुनवाई के दौरान ये बात कही. इससे पहले सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार से मोबाइल सिम कार्ड रखने वालों की जांच और पहचान के तरीके के बारे में जानकारी मांगी थी और दो हफ्ते का समय दिया था.

मामले की सुनवाई के दौरान प्रधान न्यायाधीश जे एस खेहर ने कहा था कि बिना वेरिफिकेशन के सिम कार्ड धारकों की पहचान पता होना इसलिए भी और ज़रूरी हो गया है क्योंकि अब मोबाइल फ़ोन का इस्तेमाल बैंकिंग में भी हो रहा है. इसपर केंद्र ने कहा कि एक साल में सभी सिम कार्डों को आधार कार्ड से जोड़ दिया जाएगा.

केंद्र ने ये जानकारी लोकनीति नाम की एक NGO की जनहित याचिका पर सुनवाई के दौरान दी. याचिका में कहा गया है कि देश में 90 करोड़ प्री-पेड सिम धारक हैं जिनमें से 5 करोड़ सिम कार्ड धारक ऐसे हैं जिनका वेरिफिकेशन नहीं हुआ है. ऐसे सिम कार्ड्स को कौन इस्तेमाल कर रहा है इस बारे में कोई जानकारी नहीं है.

 

याचिका में मांग की गयी है कि केंद्र सरकार और ट्राई को निर्देश दिए जाएं कि मोबाइल सिम धारकों की पहचान, पता और सभी जानकारी मौजूद हो और कोई भी मोबाइल सिम बिना वैरिफिकेशन के न दिया जाए.